जोक्स4यू: हमारे ग्राहकों द्वारा प्रस्तुत चुटकुले

भारत भर में आनंद साझा करने और अपने ग्राहकों को अपने सर्वश्रेष्ठ चुटकुले देने से ज्यादा कुछ भी नहीं है जिसकी हम सराहना करते हैं। केवल एक चीज जो इस संपूर्ण और मजेदार बातचीत को मात दे सकती है, वह है जब हमारे ग्राहक न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में हमारे साथ अपने

एक समर्थक की तरह एक चुटकुला कैसे सुनाएं: प्रो कॉमेडियन से सुझाव

सुनाएंचिंता मत करो, हम सब वहाँ रहे हैं!  यदि आप अपनी पार्टियों और समारोहों में अपने चुटकुलों से थक चुके हैं, तो भारत में पेशेवरों द्वारा बताए गए ये चुटकुले निश्चित रूप से आपके सभी चुटकुलों को कॉमेडी गोल्ड में बदल देंगे। आगे की हलचल के बिना, आइए नीचे दिए गए एक समर्थक की तरह

जोक्स4यू: एक मजाक के अनगिनत लाभ

जोक्स कुछ महत्वहीन लग सकते हैं, लेकिन यह वास्तव में सही परिस्थितियों को देखते हुए अंतहीन लाभ प्रदान करता है। यदि आप एक अच्छी तरह से चुने गए मजाक का उपयोग करते हैं, तो यह उन लोगों पर एक बड़ा प्रभाव छोड़ सकता है जिनके साथ आप बात कर रहे हैं। एक मजाक का एक

जोक्स4यू: डैड चुटकुलों का संकलन जो वास्तव में मज़ेदार हैं

चुटकुलों की दुनिया में, डैड जोक्स एक ऐसी श्रेणी है जो बाकियों से अलग है और इसके लोकप्रिय होने का कारण यह नहीं है कि आपके मन में क्या है। नहीं, ये चुटकुले कुख्यात मजाकिया नहीं हैं और न ही उनके हास्य।  डैड जोक्स भारत और पूरी दुनिया में लोकप्रिय बनाता है, वह यह है

हम दो हमारे दो

गाँधी जी अपने पिता की चौथी पत्नी के बेटे थे…बाबा साहब अपने पिता को चौदहवीं सन्तान थे…रविन्द्रनाथ टैगोर भी चौदहवीं सन्तान थे…सुभाषचन्द्र बोस 14 सन्तानों में से 9वें नंबर पर थे…विवेकानंद 10 सन्तानों में से छठे नंबर पर थे… अब कमबख़्त हम दो हमारे दो के चक्कर में महापुरुष पैदा ही होना बन्द हो गए।

लड़कियों के व्रत

मैने मम्मी से पूछा :-ये लडकियाँ क्यों इतने व्रत रखती है? माँ ने समझाया :-बेटा तू थोड़ी ना किसी कोइतनी आसानी से मिल जाएगा। कसम से देवता वाली फीलिंग आयी…

जरूरी नहीं कि हर बात

अगर आपने अपनी शर्ट का पहला बटन गलत लगाया हैतो निसंदेह बाकी सभी बटन गलत ही लगेंगे।-घनश्याम टेलर (जरूरी नहीं है हर बात महात्मा गांधी या शेक्सपीयर ने कही हो।) अगर आपकी राह में छोटे छोटे पत्थर आयेतो समझ लेना…रोड का काम चल रहा है।-भंवरलाल ठेकेदार जिंदगी में सिर्फ पाना ही सबकुछ नहीं होता,उसके साथ

जंगल का राजा शेर

एक बार एक उदास बंदर मरने को गया तो जाते-जाते उसने सोते हुए शेर के कान खींच लिये। शेर (गुस्से से): किसने किया ये..? किसने अपनी मौत बुलायी है…? बंदर: मैं हूँ महाराज। शेर: ये करते हुए तुम्हें किसी ने देखा नहीं? बंदर: नहीं महाराज। शेर: ठीक है, एक बार और करो अच्छा लगता है।

उसे पतिदेव कहते हैं

जो अमृत पीते हैं उन्हें देव…औरजो विष पीते हैं उन्हें ‘महादेव’ कहते है। लेकिन विष पीकर भी जोअमृत जैसा मुंह बनाए उसे‘पतिदेव’ कहते हैं…।

आँखों में सारी दुनिया

लड़का लड़की से: डार्लिंग मुझे तुम्हारी आँखों में सारी दुनिया दिखाई देती है! पीछे से एक बूढ़ा बोला: हमारी गाय नहीं मिल रही! दिखे तो बताना बेटा..!